कैसा हो आपके बच्चों का स्टडी / पढ़ाई रूम ll

बच्चो के उज्वल भविष्य के लिए उनकी पढ़ाई एक बोहोत ही महत्पूर्ण भूमिका निभाती है l इसलिए बच्चो के लिए उनका पढ़ाई वाला कमरा बोहोत महत्व रखता है l और इसके लिए माँ बाप भी अपने बच्चो के लिए हर प्रकार की सहूलियल करते है ताकि उनके बच्चे बिना किसी परेशानी के पढ़ लिख जाए l व उनके बच्चे अपने जीवन में हर मुकाम को हासिल करने में किसी से भी पीछे न रहे l

मगर फिर भी कई बार बच्चे काफी मेहनत करने के बाद भी एक्साम्स में सफल नहीं हो पाते l इस के पीछे उनकी कई समस्याएं सामने आती है जिन पर कई माता पिता ध्यान ही नहीं देते l और इसके पीछे की मुख्य वजह कई बार आपके घर में मौजूद वास्तु दोष हो सकता है। आप वास्तुशास्त्र के द्वारा अपने बच्चों की तरक्की में आ रही बाधा को दूर कर सकते हैं।

वास्तु शास्त्र के अनुसार बच्चों के स्टडी रूम यानि पढ़ाई वाले कमरे में मांता सरस्वती का चित्र या प्रतिमा लगाएं और अपने बच्चो को कहे की सबसे पहल माता सरस्वती की पूजा व् आराधना करे व् अपनी सद्बुद्धि और विद्या के लिए प्रार्थना करे l

और अपने बच्चो की सिखाये की वह साथ ही साथ पूजा करते वक़्त “ॐ ह्रीं सरस्वती देव्येे नमः” मन्त्र का ग्यारह जाप करें। और उसके पश्चात ही पढ़ाई करे या स्कूल जाए l यह करने से बच्चों में  एकाग्रता बढ़ती है।

vastu-ke-anusar-kaisa-hona-chahiye-baccho-ka-study-room

अगर आपके बच्चे का स्टडी रूम घर के किसी भी कोने में है मगर आप ये ध्यान रखे की आपका बच्चा पूर्व दिशा की तरफ ही मुख करके बैठे व् पढ़ाई करे l इससे आपके बच्चे की मेमोरी स्ट्रांग होती है और वो ज्यादा लम्बे समय तक याद रखने में सक्षम बनता है l  और साथ ही साथ बच्चे का कॉन्फिडेंस बढ़ता है l

सफलता पाने के लिए छात्रों की पढ़ाई का कमरा पूर्व या उत्तर दिशा या फिर ईशान कोण में होने से सूर्य, बुध एवं गुरू ग्रह की कृपा प्राप्त होती है और साथ ही उनका मन पढ़ाई में लगता है।

और एक बात है की बच्चो के पढ़ाई वाले कमरे में सूर्य देव की पॉजिटिव किरणे सुबह सुबह जरूर आणि चाइये l और इसके लिए थोड़ी देर बच्चो के रूम की विंडो जरूर खोल के रखनी चाहिए l इससे बोहोत सकारात्मक प्रभाव आपको अपने बच्चे और उसकी पढ़ाई में देखने को मिलेगा l

और एक उपाय आप कर सकते है की आपके बच्चे में बोहोत आलस है वो पढ़ाई करते वक़्त सो जाता है या नींद आ रही है बोलता है तो उसके रूम में ग्रीन पेंट दीवारों पे करवाए l  और परदे भी हो सके तो ग्रीन कलर के ही लगवाए l आप देखेंगे की आपके बच्चे एकाग्रचित होकर पढ़ाई करने लगे है l

और एक बात है की बच्चो को घर में किसी बीम के नीचे बैठकर पढ़ाई नहीं करनी चाहिए, नहीं तो उनमे दिमागी तनाव व् शार्ट मेमोरी जैसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती है और इससे उनका पढ़ाई में भी चित्त नहीं लगता है।

अधिक लाभ के लिए स्टडी रूम में कम्प्यूटर को रखनेआग्नेय कोण से दक्षिण व पश्चिम के बीच कहीं भी रख सकते है।

विशेष:-

वास्तु शास्त्र केअनुसार दक्षिण में सिर करके सोने से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है और पश्चिम में सिर करके सोने से पढ़ने की इच्छा दिन-प्रतिदिन बढ़ेगी।

पढ़ाने वाले बच्चों को हमेशा दक्षिण या पश्चिम की ओर सिर करके सोना चाहिए। ये  सभी उपाय करके आप स्वयं ही बच्चो को सफलता की और अग्रसर कर सकते हैl

More Vastu Tips

Leave a Comment

%d bloggers like this: