वास्तु के अनुसार कैसा हो आपका डाइनिंग रूम ll

 

वास्तु के अनुसार सही दिशा में बैठ कर किया गया भोजन सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है।

इससे परिवार के सभी मेंबर्स की तंदरुस्ती व् खुशहाली बनी रहती है l इसके लिए जरूरी है की आपका डाइनिंग टेबल सही दिशा में हो l

वहीं एक और गलत दिशा में रखा हुआ डाइनिंग टेबल जीवन में स्वास्थ्य से जुडी परेशानिया लता रहता है l

तो आप को पता होना चाइये डाइनिंग टेबल की सही और गलत दिशा कोण सी है l

किस दिशा में हो डाइनिंग रूम

वास्तु के अनुसार घर का डाइनिंग टेबल हमेश ही पश्चिम दिशा में होना चाहिए। इस दिशा में रखी हुयी डाइनिंग टेबल पर भोजन खाने से हमें अपने खाने के सभी पोषक तत्व मिलते है l और हमारा शरीर सुडोल व् स्वस्थ रहता है l

अब  घर की उत्तर-पूर्व या  पूर्व दिशा में रखी हुई डाइनिंग टेबल पे किया हुआ भोजन भी लाभदायक होता है l इसके अलावा आपको दक्षिण-पश्चिम दिशा में डाइनिंग टेबल रखने से व् डाइनिंग कमरा बनवाने बचना ही चाहिए l

क्योंकि इस दिशा में बैठकर खाया हुआ खाना आपके शरीर के साथ साथ आपका जीवन को भी धीरे धीरे नकारात्मक ऊर्जा से भर देता है l

डाइनिंग रूम के आगे कभी भी मुख्य दरवाजा व् टॉयलेट नहीं होना चाइये l अगर ऐसा है तो इससे घर में बेकार के झगडे ,आपसी तनाव,व् खटास भरा माहौल बना रहता है।

अब एक बात और की अगर आप इस रूम में कोई वॉशबेसिन बनाना चाहते हो तो वह  पूर्व में, उत्तर पूर्व में दिशा में होना चाहिए ।

वाशबेसिन को आपको  दक्षिण-पूर्व, दक्षिण-पश्चिम में बनवाने से बचना चाहिए। इसके अतिरिक्त आप इसे उत्तर अथवा पश्चिम में बनवा सकते है। इससे घर में पॉजिटिविटी बढ़ती है।

ऐसी हो रसोईघर में खाने की व्यवस्था

रसोईघर में खाना खाने के लिए डाइनिंग टेबल और कुर्सियां को किचन के पश्चिमी भाग  में रखना चाहिए। अगर आपकी रसोई उत्तर-पश्चिम दिशा में है तो ऐसे स्थिति में डाइनिंग टेबल पश्चिम दीवार की ओर रखें।

और एक बात है की किचन में डाइनिंग टेबल हमेशा  उत्तमपूर्व दिशा में राखी जनि चाहिए। इससे घर-परिवार की सेहत में सुधार आता है। साथ ही खुशहाली और एकता बनी रहती है।

ऐसी होनी चाहिये मेज:-

स्वस्थ व् खुशहाल रहने के लिए एक बात ध्यान रखे की डाइनिंग मेज हमेशा आयताकार या वर्गाकार हो l साथ में इसे ऐसे रखे की खाना खाते वक़्त मुँह पूर्व या उतर दिशा की और हो l

पूर्व दिशा की ओर मुँह  करके खाना  खाने से सेहत तंदरुस्त बनती है l वहीं उत्तर दिशा की ओर चेहरा होने से संपन्नता व् सुख -समृद्धि की बढ़ती है ।

अब बात आती है की किस दिशा की और अपना डाइनिंग टेबल ना रखे l  ये है की दक्षिण दिशा की ओर मुख करके कभी भी खाना नहीं खाना चाहिये l ये बात हमेशा ही याद रखे की सेहत की दृष्टि से उत्तर और पूर्व दिशा सबसे उत्तम मानी जाती है।

vastu-ke-anusar-kaisa-hona-chahiye-aapka-dining-room
ऐसा हो डाइनिंग रूम:-

डाइनिंग रूम की दीवारों का पेंट हल्का नीला, पीला यानी दिखने में शांत और सौम्य होना चाहिए। गहरा रंग जैसे कि काला,गहरा नीला अथवा भूरे रंगों को नहीं करवाना चाहिएl

इसकी साज – सज्जा भी इन्हीं  हल्के रंगों की वस्तुओ के साथ ही करनी चाहिए l  इससे  मन शांत व् एकाग्रचित रहता है l

इसके अतिरिक्त  डाइनिंग रूम में भारी सामान एवं ज्यादा फिजूल की सजावट न करें। इससे डाइनिंगरूम के माहौल में  नेगटिविटी का भार बढ़ेगा।

अब बात आती है की कोनसी तस्वीर डाइनिंग रूम में नहीं लगनी चाहिए l यहाँ पर युद्ध, शिकार, हिंसक पशु, सूखी हुई ज़मीन व उदासी को दिखाने वाली तस्वीरों और पेंटिंग को नहीं लगाना चाहिए।

इसके अतिरिक्त टेबिल पर ताज़े फूलों का गुलदस्ता या बांस के छोटे पौधों को रखना भी सुख -समृद्धि का सूचक  माना जाता है।

विशेष:-

प्रिय पाठकों इस तरह डाइनिंग रूम और डाइनिंग टेबल को व्यवस्तिथ करके आप अपने घर का वास्तु बिना तोड़-फोड़ किये सही कर सकते है व इसका अधिकतम लाभ ले सकते है

कैसा हो वास्तु के अनुसार रसोईघर

Leave a Comment

%d bloggers like this: