घर की इन जगहों पर लगाकर आईना, बदल सकते हैं अपनी किस्मत ||

घर में इस जगह लगा दर्पण बना सकता है आपको करोड़पति |

घर की इन जगहों पर लगाकर आईना बदल सकते हैं अपनी किस्मत |

वास्तु शास्त्र में दर्पण यानी आईना का प्रयोग वास्तु शास्त्र के दोष को दूर कर घर में अपार धन की प्राप्ति के लिए किया जाता है | वास्तु शास्त्र में अगर आईने को हम समझे तो यह जल तत्व का प्रतिनिधित्व करता है |जल यानी धन,पैसा | सबसे पहली चीज आईने को आप मेन गेट के सामने कभी भी ना लगाएं |

इससे यह होता है कि कोई भी पॉजिटिव एनर्जी मेन गेट से आती है तो आईना वापस रिफ्लेक्ट करता है, तो वह वापस चली जाती है | हमें यह नहीं पता होता कि नेगेटिव एनर्जी या पॉजिटिव एनर्जी कोन सी है या कब आ रही है, तो हमें यह रिस्क कभी नहीं लेना चाहिए | अब बात आती है कि आईना कहां और कैसे लगाना चाहिए |

घर में तिजोरी यानी वह अलमारी जिसमें आप अपना पैसा, कैश या कोई भी गहने वगैरह रखती हैं | उसके सामने आप आईना इस तरीके से लगाएं जब भी आप अलमारी खोले, तो सामने आईने में दिखे |

इससे यह होता है कि आईना आपके धन में 2 गुनी बरकत करता है, और आपकी कमाई में वृद्धि करता है, इसमें कोई संदेह नहीं |

इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि दर्पण अथवा आइना कभी भी घर में टूटा हुआ चटका हुआ या धुंधला या गंदा ना हो | मतलब कि आप जिस आईने में देखें आपकी छवि आपको साफ-सुथरी व सुंदर नजर आए |

आजकल लोग फैशन के चलते ध्यान नहीं देते की आईना टेढ़ा मेढ़ा कटा हुआ डिज़ाइन का या नोकीला धार वाला ले आते हैं | परंतु ऐसा नहीं होना चाहिए |

वास्तुशास्त्र के अनुसार आइना हमेशा सुंदर, सही ओवल शेप का, चौकोर शेप, आयताकार शेप या राउंड शेप का होना चाहिए | एक महत्वपूर्ण बात यह भी है कि कभी भी दो दर्पण को आमने-सामने नहीं लगाना चाहिए |इससे वास्तु दोष उत्पन्न होता है |

वास्तु शास्त्र के अनुसार आईना घर में फर्श से लगभग 4 या 5 फीट के ऊपर ही लगाएं | तभी वह आइना आपको पॉजिटिव रिजल्ट देगा |और फलित होगा |

अब बात आती है कि आईना किस दिशा में लगाना चाहिए | जैसा कि मैंने पहले भी बताया आईना जल तत्व का प्रतिनिधित्व करता है | तो यह दक्षिण दिशा में बिल्कुल भी नहीं लगाया जा सकता | क्योंकि दक्षिण दिशा अग्नि की दिशा होती है |

यहां आईना लगाने से आपको कभी भी पॉजिटिव रिजल्ट्स नहीं मिलेंगे |ऐसी दिशा में लगा हुआ आइना आपके दुर्भाग्य को न्योता देता है |

अब यह समझना जरूरी है कि आईना वास्तु के अनुसार सबसे ज्यादा फलित कौन सी दिशा में होता है | वह दिशा है पूर्व दिशा, उत्तर दिशा, या उत्तर-पूर्व का कोना |

इन तीनों जगह पर आप आईना लगा सकते हैं | याद रखें कि इन दिशाओं में लगे हुए आइने को आप जितना देखेंगे उतना ही आपके व्यक्तित्व में निखार आएगा, आपकी सुख समृद्धि यश और मान बढ़ेगा |

अब आगे जानना यह जरूरी है कि कभी भी बेडरूम में आईना किसी भी दिशा में इस तरीके से ना लगाएं कि आपका बेड आईने में दिखाई दे |

अगर आपका ड्रेसिंग टेबल या कोई अलमारी के आईने में आपका बेड या आप सोते हुए दिखाई देते हैं, तो ये वास्तु के अनुसार सही नहीं है, इस तरीके से लगा हुआ आईना आपको बहुत नेगेटिव रिजल्ट्स देता है |आपकी तरक्की में हमेशा अवरोध उत्पन्न करता है | इससे आप हमेशा मानसिक व शारीरिक पीड़ा से ग्रहसित रहेंगे |

इसका उपाय ये करे की,उसे किसी ग्रीन कागज या पेपर की मदद से ढक दें |अगर ऐसा नहीं कर सकते तो किसी कपड़े से ढक कर रखे |

एक बात और है कि डाइनिंग टेबल के सामने लगा हुआ शीशा बहुत शुभ माना जाता है | यह वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर के लिए और आपके लिए बहुत ही लाभदायक होता है |

इससे आपके धन- धान्य के भंडार हमेशा भरे रहते हैं | ऐसी डायनिंग टेबल पर आप खाना खाएंगे, तो वह खाना आपके लिए स्वास्थ्य वर्धक होगा |

इस तरीके से लगा आइना आपकी खुशियों और सुख -समृद्धि की डबल कर देता है | तो प्रिय पाठको, यह थे वास्तु शास्त्र के अनुसार आईने से संबंधित कुछ सावधानियां व उपाय | आप भी इन्हे आजमाकर अपने जीवन में खुशहाली मैं समृद्धि ला सकते हैं |

 

More Vastu Tips 

Leave a Comment

%d bloggers like this: