कब है सोमवती अमावस्या इसके महत्त्व व उपाये ll

सोमवती अमावस्या 20 जुलाई 2020 सोमवार सूर्य उदय से रात्रि 11:03 तक है इसी के साथ इस दिन सर्व-सिद्धि योग बन रहा है l

सोमवती अमावस्या को दान पुण्य करने का अधिक से अधिक फल मिलता है l अमावस एक ऐसी तिथि है जिस दिन मनुष्य द्वारा किया गया धर्म पुण्य हो या पाप कर्म हो भविष्य में इसका कई गुना फल प्राप्त होता है l

अनेक उपायों द्वारा मनुष्य अपने पुण्य कर्म बढ़ा सकता है l कुछ ऐसे उपाय हैं, जिसे आप सोमवती अमावस को करके अपने जीवन को सुखद कर सकते हैं और आने वाले संकट से मुक्ति पा सकते हैं l

 

उपाय नंबर 1 

इस दिन पीपल की विशेष तौर पर पूजा करें और हो सके तो 108 प्रदक्षिणा दें l और कच्चे सूत लपेटते हुए ओम नमो भगवते वासुदेवाय का जाप करें l

और इसके पश्चात किसी ब्राह्मण को भोजन अवश्य करें ऐसा करने से संतान चिरंजीवी होती है l

 

उपाय नंबर 2

इस दिन घर में रहकर तुलसी माता की 108 परिक्रमा करने से उतना ही फल प्राप्त होता है जितना कि पीपल की परिक्रमा करने से मिलता है ऐसा करने से दरिद्रता का नाश होता है l

 

उपाय नंबर 3 

स्कंद पुराण व विष्णु पुराण के अनुसार रविवार, एकादशी, द्वादशी, सक्रांति, सूर्य व चंद्र ग्रहण व संध्याकाल में तुलसी पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए l

इस काल में तोड़े गए तुलसी पत्ते कई गुना पाप प्रदान करते हैं और भगवान द्वारा स्वीकार भी नहीं किए जाते हैं l

 

उपाय नंबर 4 

हर अमावस को हो सके तो एक छोटा सा आहुति प्रयोग करें l गौ चंदन का कंडा ले उस पर गूगल डालकर पूरे घर में धूनी दे l पूरे घर में धूनी देते समय 

 

ॐ  कुल देवताभ्यों नमः 

ॐ पितृर देवताभ्यों नमः 

ॐ लक्ष्मी-पति देवताभ्यों नमः 

ॐ विघ्नविनाशक देवताभ्यों नमः

 

 मंत्र का जाप अवश्य करें l ऐसा करने से घर में बस रही नकारात्मक शक्तियां हट जाएंगी और सुख समृद्धि का विस्तार होगा और आपके पितरों का आशीर्वाद मिलेगा l 

 

उपाय नंबर 5 

इन दिनों चातुर्मास चल रहे हैं स्कंद पुराण के अनुसार चातुर्मास के दिनों में तांबे और कांसे के पात्र का प्रयोग बंद कर देना चाहिए l इसके अलावा किसी भी अन्य धातु का प्रयोग कर सकते हैं l 

और अधिक वास्तु टिप्स के लिये यहाँ पढ़े ll 

विशेष 

प्रिय पाठको इस प्रकार उपाय करके आप अमावस्य का विशेष लाभ प्राप्त कर सकते हैं l और याद रहे पीपल के पेड़ को जल देने से कुंडली में सभी प्रकार के ग्रह दोष स्वतः ही दूर हो जाते हैं, और जीवन में शुभ फल प्राप्त होता है l 

Leave a Comment

%d bloggers like this: