वास्तु शास्त्र के अनुसार कालसर्प दोष के निवारण व उपाये ll

कालसर्प दोष वैदिक ज्योतिष के अनुसार एक ऐसा दोष होता है जो जातक के पिछले जन्म में किए गए गंभीर अपराध के कारण अगले जन्म में दिया गया दण्ड होता है l

कालसर्प दोष में जातक की कुंडली में सभी ग्रह राहु और केतु के बीच में आ जाते हैं तब कालसर्प दोष उत्पन्न होता है l 

कालसर्प दोष का विचार करने से पहले राहु केतु का विचार करना अति आवश्यक है l राहु को सर्प का मुख् माना जाता है और केतु को सर्प की पूछ माना गया है l

कालसर्प दोष 12 प्रकार के होते हैं जिनका अलग अलग तरीके से निवारण व उपाय किया जाता है l 

माना जाता है कि कालसर्प दोष से पीड़ित जातक मानसिक व आर्थिक रूप से परेशान ही रहता है l  वैवाहिक जीवन में संतान व् ससुराल पक्ष से भी परेशानियां बनी रहती है l 

विवाह के पश्चात संतान उत्पत्ति में भी कई तरह की बाधा उत्पन्न होती हैं l और जातक के बने बनाए काम भी बिगड़ते ही रहते हैं l 

सावन का महीना काल सर्प दोष के उपाय के लिए सर्वोत्तम माना गया है आइए जानते हैं उपाय:-

 1 सावन के महीने में शिवलिंग पर महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते हुए कालसर्प दोष पीड़ित जातक दूध चढ़ाएं l  

2  कालसर्प दोष से पीड़ित जातक के शयनकक्ष में बेडशीट और परदे का कलर  लाल रंग का होना चाहिए l 

3 कालसर्प दोष पीड़ित जातक  को सावन के महीने में 108 बार राहु यंत्र को बहते हुए पानी में ॐ रा राहवे नमः का जाप करते हुए प्रवाह करना चाहिए l 

4 कालसर्प दोष पीड़ित जातक को मंगलवार को हनुमान जी को गुड़ चने का प्रसाद चढ़ाकर चमेली के तेल में सिंदूर डालकर चोला चढ़ाना चाहिए और श्रद्धा के अनुसार हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए l  

5 कालसर्प दोष पीड़ित जातक को 40 दिन लगातार पक्षियों को जौ के दाने खिलाने चाहिए l 

 6 कालसर्प दोष पीड़ित जातक को बटुक भैरव नाथ जी की पूजा करने से अत्यंत लाभ मिलता है l  

7 सावन के महीने में जातक,भगवान शिव का रुद्राभिषेक कराएं ,और चांदी के  नाग- नागिन का जोड़ा विधि विधान से शिवलिंग पर चढ़ाएं l  शीघ्र अति शीघ्र लाभ मिलेगा l 

8 कालसर्प दोष पीड़ित जातक को शनिवार व मंगलवार को नियमानुसार सुंदरकांड का पाठ अपने निवास स्थान पर अवश्य ही करना चाहिए l 

9 कालसर्प दोष पीड़ित जातक को शुभ प्रभाव के लिए 21 दिन लगातार लोहे का नाग -नागिन का जोड़ा बनवा कर बहते जल में प्रवाहित  करने से अति शीघ्र लाभ होता है l   

10 कालसर्प  दोष से पीड़ित जातक को अवश्य ही घर की रसोई में बैठकर भोजन करना चाहिए l  इससे जातक का राहु शांत होता है l और अच्छे फल प्रदान करता है l 

कालसर्प दोष

इसके अलावा वास्तु शास्त्र के अनुसार कालसर्प दोष के निवारण के लिए गरुड़ पक्षी की एक तस्वीर जिसके पंजों में नाग़ लिपटा हो ,अपने घर में लगानी चाहिए l 

जातक को ऐसी तस्वीर अपने शयन कक्ष में नहीं , बल्कि हॉल में लगा सकता हैं l तस्वीर में गरुड़ पक्षी पर भगवान विष्णु भी बैठे हो तो अति उत्तम रहेगा l 

इस तस्वीर को लगाने के बाद इस पर एक मोर पंख लगा दे, जो दूर से ही सबको नजर आए l

अब जातक नियम से प्रतिदिन इस तस्वीर के दर्शन करें l बहुत लाभ मिलेगा l कालसर्प दोष की पीड़ा कम होगी l 

विशेष:-

प्रिय पाठकों ! आज मैंने काल सर्प दोष के सरल से सरल आजमाएं हुए उपाय बताए हैं l  जिनमें ज्यादा खर्चा नहीं आएगा l जिन्हें नियम से अगर जातक करें, तो अवश्य ही लाभ प्राप्त होगा, इसमें कोई संदेह नहीं l 

 

कैसे की जाये राशियों के अनुसार शिव आराधना ll

इसके अलावा वास्तु शास्त्र के अनुसार कालसर्प दोष के निवारण के लिए गरुड़ पक्षी की एक तस्वीर जिसके पंजों में नाग़ लिपटा हो ,अपने घर में लगानी चाहिए l 

Leave a Comment

%d bloggers like this: