|| घर की वस्तुओ से करे वास्तु शुभ ||

घर की वस्तुओं से ही घर का वास्तु सुधारा जा सकता है | बस ध्यान ये रखना चाहिए, की हम दिखावे वाली जिंदगी में ज्यादा घर को सजाने के चक्कर में हम कई बार सामान ऐसी दिशा या कोने में रखे देते है, जो वास्तु के हिसाब से अशुभ होती है|

और वही हमारे शारीरिक एवं मानसिक परेशानियों का कारण बन जाती है| क्योकि इस भागदौड़ वाली जिंदगी में हमारा ध्यान कभी इस ओर जाता ही नहीं |

अब बात करते है घर के उत्तर -पूर्व दिशा की जहां कभी भी भारी सामना नहीं रखना चाहिये | जैसे कई लोग अलमीरा, ट्रंक, बच्चों की बुक्स रैक, और कपड़ो से भरी हुई ट्रॉली बेग रख देते है |

जिसकी वजह से आपको जाने अनजाने में शारीरिक व मानशिक रोग, मांगलिक कार्यों में रूकावट, कर्जे में वृद्धि, धन की कमी, धन का फसना जैसी समस्याओ से झूझना पड़ता है |

फिर किसी भी व्यक्ति की इसका कारण समझ  नहीं आता | बस परेशान ही रहता है | और धीरे-धीरे डिप्रेशन और अनिद्रा जैसी बीमारियों का शिकार हो जाते है | तो इसका उपाए यही है प्रिय दोस्तों की घर को व्यवस्थित करते समय उत्तर-पूर्व दिशा को दोषमुक्त एवं  साफ़ सुथरा रखे | और भारी सामान जैसे अलमीरा इत्यादि दक्षिण-पश्चिम कोने या दक्षिण दिशा में ही रखें |

ghar-ki-vastuon-se-kare-vastu-shubh-in-hindi

अब बात यह आती है की दक्षिण-पश्चिम दिशा में क्या नहीं रखें | यहाँ  कचरे का खुला डिब्बा नहीं रखना चाहिये | और दक्षिण-पश्चिम कोने में घर की गंदे पानी के निकासी की नाली है तो वह ध्यान दे की कभी कचरे या कोई गंदगी जमा न हो |

अगर टॉयलेट है, तो टॉयलेट को साफ सुथरा रखें | बदबूदार टॉयलेट नहीं होना चाहिये  ध्यान दे डस्टबिन हमेशा बंद या ढक्कन वाला यूज़ करें  | डस्टबिन को रोज साफ करें उसमें बदबू ना होने दें | और एक बात आपको अवश्य ध्यान  है , की घर की निकासी  वाली नाली में  कभी भी गंदा पानी जमा न होने दें |

ऐसे रूके हुऐ गंदे पानी में राहु का अधिपत्य होता है | कृपया  दोस्तों घर में राहु को एक स्थान पर स्तिर न होने दे | ऐसा  होना अशुभ है, यानि की इससे राहु संबंधित बीमारियां होने का भय है | जैसे राहु व्यक्ति को दिमाग़ी रोगी बना देता है | और इस हद तक स्थिति पैदा हो जाती है , की चेकउप कराने पर भी बीमारी का पता नहीं चलता |

कृपया इन सब चीजों में साफ़-सफ़ाई का विशेष ध्यान रखें | और  वास्तु संतुलित करें |  घर  किसी भी कोने या दिशा में दरारें या सीलन आ रही है तो इसका खास ध्यान रखें | उन्हें तुरंत ठीक करवाये |

अब बात आती है बैडरूम की मतलब श्यनकक्ष की | अगर किसी का भी शयनकक्ष दक्षिण-पश्चिम दिशा में या इसके कोने में है तो है तो ध्यान रखें , कमरा हमेशा साफ-सुथरा और सुसज्जित रखें |रूम फ्रेशनर डालकर रखें , इससे पति-पत्नी के जीवन में मधुरता बनी रहेगी |

शुभ वास्तु के लिए कमरे में कभी भी नीले काले रंग का पेंट या पर्दे ना लगवाये | हमेशा याद रखें की हल्के रंग का ही प्रयोग करें | यहाँ तक की बेडशीट में भी कभी नीला या काला रंग यूज़ ना  करें |

ghar-ki-vastuon-se-kare-vastu-shubh-in-hindi

कई बार लेडीज अपने महंगी जूते सैंडल अपने बेड में या बेड के नीचे कहीं भी रख देती हैं|  ऐसा कृपया बिल्कुल भी ना करें |   ऐसा करके आप अपनी बीमारी और मानसिक तनाव को बढ़ावा देते हैं और कमरे में कभी भी पूजा घर नहीं बनाना चाहिए | और कोशिश करे की कमरे में बेड के  सामने ड्रेसिंग टेबल ना लगाए |

एक काम आप जरूर करे की आप कमरे में राधा कृष्ण की बांसुरी बजाती हुई तस्वीर या नृत्य करते हुए राधा कृष्ण की तस्वीर अवश्य लगाएं |  इससे आपके जीवन में पॉजिटिव इफेक्ट पड़ेगा|  इस बात का खास ख्याल रखें की तस्वीर पर कभी धूल जमा ना होने दें | दक्षिण पश्चिम दिशा की तरफ यदि किसी का मेन गेट है, तो गेट के सामने कभी कीचड़, गंदा पानी या मच्छरों को जमा ना होने दें |

इससे उस घर में रहने वाली महिलाएं हमेशा बीमार रहेंगी | और साथ ही  कुछ ना कुछ छोटी-छोटी बीमारियां लगी ही रहती है | जिसकी वजह से उनमें मानसिक तनाव भी दिन प्रतिदिन बढ़ जाता है |  इन सभी का यही उपाय है कि कचरा गंदगी घर में जमा ना होने दें साफ-सफाई का खास ख्याल रखें |

आजकल की भागदौड़ वाली जिंदगी में मानसिक रोगी होने से बचें | छोटी-छोटी बातों का ख्याल रख कर हम अपने जीवन को स्वयं ही खुशहाल बना सकते हैं | और घर का वास्तु स्वयं ही शुभ  कर सकते है |

More Vastu Tips

1 thought on “|| घर की वस्तुओ से करे वास्तु शुभ ||”

Leave a Comment

%d bloggers like this: